IMG 20140510 WA0008
in

आखिर किराये का घर छोड़ कर !!

आखिर किराये का घर छोड़ कर , 

जाने लगे सब शहर छोड़ कर ,

अलग रास्ते है, अलग मंजिले है। 

आधा अधूरा सफर छोड़ कर , 

जाने लगे सब शहर छोड़ कर। 
जब दूर होंगे और पास होंगे ,

कुछ अपनी कहेंगे कुछ उनकी सुनेगे 
कदमो के निशां राहो पर छोड़ कर,

जाने लगे सब शहर छोड़ कर। 

What do you think?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2274ad28bc0191f4921d5102df5beabd 1

मानवता

agnipath protests 1 2

बेवजह है ये अग्निपथ !!