Switch to the dark mode that's kinder on your eyes at night time.

Switch to the light mode that's kinder on your eyes at day time.

Switch to the dark mode that's kinder on your eyes at night time.

Switch to the light mode that's kinder on your eyes at day time.

Search Results for:

होली

सभी युगों में होली

सभी युगों में होली सतयुग से ही चला आ रहा, होली का त्योहार। भक्त प्रह्लाद की रक्षा हेतु हरि ने लिया अवतार। धु धु करके जली होलिका,अधर्म गया फिर हार, हिरण्यकश्यप को स्वर्ग पठाया, हुआ नरसिंग अवतार। त्रेता युग में महाराज रघु ने की होली की शुरुआत, होलिका जली चैराहे पर, हुआ अधर्म का नाश। More

Read More »
वायलर रामवर्मा

लेखक वायलर रामवर्मा का जीवन परिचय

वायलर रामवर्मा का जन्म 25 मार्च 1928 को दक्षिण भारतीय राज्य केरला के अल्लापुझा जिले के एक छोटे से गांव में हुआ थाबायलर नाम वर्मा ने बहुत ही कम उम्र में अपने पिता को खो दिया और पारंपरिक गुरुकुल ढंग से उनके चाचा ने उनकी शिक्षा की देखरेख की इसके बाद औपचारिक शिक्षा संस्कृत स्कूल More

Read More »
Harishankar Parsai

Harishankar Parsai : हरिशंकर परसाई

Harishankar Parsai जिन्होंने व्यंग्य को विधा का दर्जा दिलाया था. ये हिंदी के प्रसिद्ध लेखक और व्यंग्यकार थे. उन्होंने सामाजिक वास्तविकताओं के लेखक के द्वारा सामने रखा. हरिशंकर परसाई ने सामाजिक और राजनीति के बीच हमारे देश के मध्यम वर्ग के लोग कि सच्चाई निकटता से पकड़ा है. समाज में चल रहे पाखंड और रूढ़िवादी More

Read More »
हरिकृष्ण देवसरे

Hari Krishna Devsare/ हरिकृष्ण देवसरे

हरिकृष्ण देवसरेका जन्म 9 मार्च 1938 ईस्वी के मध्य प्रदेश की नागोद में हुआ था. हिंदी साहित्य के अग्रणी लेखकों में हरिकृष्ण देवसरे का नाम लिया जाता था और बच्चों के लिए रचित उनके साहित्य के प्रमुख रूप से पसंद किया गया. बच्चों के प्रति उनके योगदान को देखते हुए उन्हें 2011 में साहित्य कार्ड More

Read More »
Phanishwar Nath 'Renu'

Phanishwar Nath ‘Renu’- फणीश्वर नाथ रेणु का जीवन परिचय

Phanishwar Nath ‘Renu’ का जन्म :- फणीश्वर नाथ रेणु का जन्म 4 मार्च 1921 ईस्वी को बिहार के पूर्णिया जिले के ग्राम औराही हिंगना में हुआ. हिंदी जगत के प्रसिद्ध फणीश्वर नाथ ने इस जगन में अपना बहुत बड़ा योगदान दिया. फणीश्वर नाथ रेणू सन 1942 ईस्वी में भारत छोड़ो आंदोलन में चक्रीय हिस्सा लिया More

Read More »
Sahityanama

हमारे स्वतंत्रता सेनानी

तेवर तुफानी सीना चट्टानीहमारे स्वतंत्रता सेनानी। न सच को आँच न वतन को आँच ठान लिया तो हार न मानी हमारे स्वतंत्रता सेनानी। वतनपरस्ती उनकी हस्ती शहीदों ने कही कहानी हमारे स्वतंत्रता सेनानी। रक्त में उबाल दुश्मनों पे बबाल वीरता की पुरी कहानी हमारे स्वतंत्रता सेनानी। राजीव कुमार बोकारो स्टील सिटी झारखण्ड। More

Read More »
महादेवी वर्मा

Mahadevi Verma : महादेवी वर्मा का जीवन परिचय

Mahadevi Verma : महादेवी वर्मा को आधुनिक युग की मीरा कहा जाता था. निराला वैशिष्ट्य’ की स्वामिनी महादेवी वर्मा छायावाद की चौथी स्तंभ भी कही जाती है. छायावाद युग हिंदी भाषा की प्रसिद्ध कवित्री है Mahadevi Verma का जन्म:- आधुनिक युग की मीरा महादेवी वर्मा जी (Mahadevi Verma) का जन्म 26 मार्च 1907 भारत के More

Read More »

नारी – स्वयं सम्पूर्ण

ज्वलंत ज्वाला सुलगे है तुझमें क्यूँ चिंगारियों से घबराती हैं? शक्ति के भंडार से सजी तु तु हि जगत जननी कहलाती है। दिनकर है तु स्वयंम प्रकाशित सी तारों की मांग क्यूँ कर जाती है? कर्म पथ पर चले वीर योद्धा बनकर क्यूँ छोटी उलझनों से डर जाती है? गंगा सी निर्मल अविरल धारा तु More

Read More »
ज़िंदग़ी

ज़िंदग़ी

कब तलक मैं तेरी उलझनें सुलझाता रहूं ऐ ज़िन्दग़ी कभी मुझे अपनी सुलझी हुई शक्ल तो दिखला जा । @ कुन्दन श्रीवास्तव More

Read More »
pongal 2023

पोंगल

सुख संपत्ति समृद्धि का प्रतीक पोंगल का त्यौहार दक्षिण भारत के तमिलनाडु राज्य में मनाया जाने वाला प्रमुख त्यौहार है । जिस प्रकार उत्तर भारत में जनवरी महीने के बीच में मकर संक्रांति एवं लोहडी का पर्व मनाया जाता है उसी प्रकार दक्षिण भारत में पोंगल का पर्व मनाया जाता है । मान्यता है कि More

Read More »
Aakrosh

आक्रोश

मुझे आक्रोश है आज भी उन लोगों से जिन्होंने मेरा साथ तब छोड़ा जब मुझे सबसे ज्यादा जरूरत थी। मुझे आक्रोश है आज भी उन लोगो से  जिन्होंने मेरी मोहब्बत को तब ठुकरया जब मुझे किसी के प्यार की जरूरत थी। मुझे आक्रोश है आज भी उन लोगो से जिन्होंने अपना बनाकर मुझे गले तो More

Read More »
No more posts to show
Back to Top

Log In

Or with username:

Forgot password?

Don't have an account? Register

Forgot password?

Enter your account data and we will send you a link to reset your password.

Your password reset link appears to be invalid or expired.

Log in

Privacy Policy

Add to Collection

No Collections

Here you'll find all collections you've created before.

होम
मैगज़ीन
सारे केटेगरी
अकाउंट
पोस्ट करे